राजस्थान नर्सेज सयुंक्त संघर्ष समिति का PMO के खिलाफ प्रदर्शन

चित्तौड़गढ़ - गोपाल चतुर्वेदी  
चित्तौड़गढ़ जिला चिकित्सालय के समस्त नर्सिंग कर्मियों ने बुधवार को राजस्थान नर्सेज सयुंक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान मे नर्सिंग  कर्मियों ने चिकित्सालय के पीएमओ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की नर्सिंग कर्मियों ने पीएमओ की हठ धर्मिता और चिकित्सालय में व्याप्त अनियमितताओं के विरोध में जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपा, साथ ही उनकी मांगों को नहीं मानने पर सोमवार से जिला स्तर पर सभी सेवाओं को बाधित करते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय भी लिया गया l

इसके बारे में जानकारी देते हुए संगठन के जिला अध्यक्ष मुकेश उज्ज्वल ने बताया की समस्त नर्सिंग कर्मी पीएमओ और प्रशासन को अवगत कराने के बाद गत माह की 25 तारीख को प्रदेश स्तरीय धरने में शामिल होने के लिए जयपुर गए थे और वहां से आने के पश्चात पीएमओ की ओर से उन्हें कारण बताओं नोटिस जारी किए गए थे जिससे कि नर्सिंग कर्मियों में रोष व्याप्त है इसके अलावा पीएमओ डॉक्टर दिनेश वैष्णव द्वारा लगातार नर्सिंग कर्मियों को बिना किसी कारण परेशान किया जा रहा है जिसका नर्सिंग कर्मी विरोध प्रकट कर रहे हैं वहीं उन्होंने बताया कि इसी के विरोध में जिला कलेक्टर को एक ज्ञापन सोपा गया है जिसमें पीएमओ की ओर से जारी किए गए नोटिस को तत्काल प्रभाव से निरस्त किए जाने की मांग की गई है वहीं उन्होंने बताया कि ज्ञापन में कई अन्य मांगे भी रखी गई है जिसमें प्रमुख रूप से जिला चिकित्सालय में तीन नर्सिंग अधीक्षकों के पद स्वीकृत होने के बाद भी सिर्फ एक नर्सिंग अधीक्षक को कार्यभार दिया हुआ है जबकि राज्य सरकार की ओर से स्पष्ट आदेश किए हुए हैं कि रिक्त पद होने पर वरिष्ठतम नर्सिंग कर्मी को कार्यवाहक नर्सिंग अधीक्षक का पद दिया जाए वहीं उन्होंने बताया कि चिकित्सालय में सेवानिवृत्ति नर्सिंग कर्मी चंपालाल सुथार को नर्सिंग अधिकारी की आवश्यकता नहीं होने के बावजूद भी राजकोष को हानि पहुंचाते हुए आरएमआरएस से बिना किसी सक्षम स्वीकृति के लगा रखा है जिसे तुरंत प्रभाव से हटाया जाए उन्होंने बताया कि उनकी मांगे नहीं माने जाने पर गुरुवार 14 सितंबर से समस्त नर्सिंग कर्मी विरोध स्वरूप काली पट्टी बांधकर कार्य करेंगे और उनकी मांगे नहीं माने जाने पर 18 सितंबर से जिले के समस्त नर्सिंग कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे जिसकी समस्त जिम्मेदारी चिकित्सालय और जिला प्रशासन की होगी वहीं उन्होंने बताया कि इस अनिश्चितकालीन हड़ताल में समस्त आपातकालीन और अन्य सेवाओं को भी बाधित किया जाएगा

गौर तलब है कि डॉ दिनेश वैष्णव जब से चिकित्सालय के पीएमओ बने हैं तब से उनका विवादों से नाता खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, अपनी हठ धर्मिता और राजनीतिक संरक्षण के चलते आए दिन चिकित्सालय में नए विवाद पैदा हो रहे हैं कई बार ठेका कर्मियों के वेतन समय पर नहीं मिलने के चलते हड़ताल और अब नर्सिंग कर्मियों की हड़ताल के चलते कर्मचारियों को एक बार फिर से जिला कलेक्टर की शरण लेकर शिकायत दर्ज करवानी पड़ रही है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack