डेप्थ मुहिम के तहत सत्संग भंडारा 21 मई को, हनुमानगढ़ टाउन की धान मंडी में होगा पावन भंडारा

हनुमानगढ़ - विश्वास कुमार 
डेरा सच्चा सौदा के गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां की ओर से समाज को नशामुक्त बनाने के लिए चलाई गई डेप्थ मुहिम के तहत 21 मई को सत्संग भंडारे का आयोजन किया जाएगा। हनुमानगढ़ टाउन की नई धान मंडी डी ब्लॉक प्रांगण में होने वाले पावन भंडारे का आयोजन रविवार सुबह 10 से 1 बजे किया जाएगा। डेप्थ मुहिम के तहत नशा ग्रस्त जीवन व्यतीत कर रहा इंसान 15 मिनट में गुरु की विधि अनुसार हर प्रकार का नशा छोड़ देता है। इसी कड़ी में हनुमानगढ़ क्षेत्र में जन जागरूकता लाने के लिए इस सत्संग भंडारे का आयोजन किया जा रहा है।
हनुमानगढ़ में शुक्रवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में 85 मैम्बर दिलराज सिंह इन्सां ने बताया कि सत्संग भंडारे की खुशी में विशाल नामचर्चा आयोजित की जाएगी। नामचर्चा में बड़ी तादाद में साध-संगत हिस्सा लेगी। सत्संग पंडाल में लगाई गई बड़ी एलईडी स्क्रीनों पर पूज्य गुरु जी के रिकॉर्डिड वचनों को चलाया जाएगा। साध-संगत के लिए छाया-पानी सहित अन्य जरूरी बंदोवस्त किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि नशे रूपी दैत्य के कारण घरों के घर बर्बाद हो रहे हैं तथा समाज में लड़ाई-झगड़े बढ़ रहे हैं। इसलिए पूज्य गुरु जी की शिक्षाओं पर चलते हुए डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत नि:स्वार्थ भाव से नशा करने वाले लोगों के घर-घर जाकर उनका नशा छुड़वा रही है। जिससे उनके घरों में खुशहाली आ रही है। उन्होंने बताया कि नशे से होने वाले दुष्परिणाम के बारे जागरूक करती एक डॉक्यूमेंट्री नामचर्चा स्थल पर चलाई जाएगी। इसमें दिखाया जाएगा कि नशा इंसान के लिए कितना नुकसानदायक है। डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से आमजन को भी नशा छुड़ाने की मुहिम में भाग लेने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
85 मैम्बर रणजीत सिंह इन्सां ने बताया कि जब हम पूज्य गुरू जी की बताई विधि अनुसार नशा मुक्त होकर खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे हैं तो आमजन इस विधि से अंजान क्यों रहे। सामाजिक प्रतिष्ठा व मान मर्यादा का हनन करने वाले नशे रूपी दैत्य को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां लगे हुए हैं। नशा मुक्त समाज की स्थापना के लिए जन जागरूकता के अनेक सॉन्ग के माध्यम से भी लोगों को नशा छोडऩे की प्रेरणा करने के साथ-साथ साध-संगत गांव-शहरों में नशे रूपी दानव के खिलाफ जन जागरूकता अभियान चला रही है।
बता दें कि बेपरवाह साईं शाह मस्ताना जी महाराज ने 29 अप्रैल 1948 को डेरा सच्चा सौदा की स्थापना की और इसके पश्चात मई महीने में पहला सत्संग फरमाया। इसलिए मई महीने को डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की शिक्षाओं पर चलते हुए सत्संग माह भंडारे के रूप में मना रही है।
प्रेस वार्ता में गोकुल इन्सां, सुमन कामरा इन्सां, तरसेम इन्सां, बलजीत सिंह इन्सां, हरीश कुमार इन्सां, सोहन लाल नागपाल इन्सां आदि मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack