महरिया पर सांसद सुमेधानंद का वार, वे अनुशासनहीनता के कारण 2-3 बार चुनाव हारे,अब काम करेंगे तो होगा सम्मान

सीकर ब्यूरो रिपोर्ट।  

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुभाष महरिया की भाजपा वापसी पर सीकर सांसद ने कहा कि पार्टी के साथ अनुशासनहीनता का परिणाम वे भुगत चुके हैं। अब वे एक कार्यकर्ता के रूप में पार्टी में आए हैं। काम करेंगे तो उनका सम्मान होगा। भाजपा हर कार्यकर्ता का सम्मान करती है।

सांसद ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि प्रदेश सरकार के प्रबंधन को लेकर भाजपा उन्हें समय-समय पर जगाने का काम करती है लेकिन यह सरकार चेत नहीं रही है। ऐसे में आने वाले समय में राजस्थान में भाजपा 150 से ज्यादा सीट जीतेगी। उसका केवल एक ही कारण है कि कांग्रेस सरकार ने जनता के साथ जो छल किया है, उसका बदला लेने के लिए जनता तैयार है।

सांसद बोले- एक आदमी के आने या जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता
सुमेधानंद सरस्वती ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुभाष महरिया के भाजपा ज्वॉइन करने की बात पर कहा कि सुभाष महरिया पार्टी में आने के लिए कई दिन से प्रयासरत थे। सुभाष महरिया ने एक स्टेटमेंट दिया है कि उन्होंने एक कार्यकर्ता के रूप में पार्टी में प्रवेश किया है। वह पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगे। जो पार्टी और महरिया दोनों के लिए ही हितकारी होगा।

सांसद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपने आप में एक कैडर बेस और कार्यकर्ताओं की पार्टी है। पार्टी में एक व्यक्ति के आने या फिर जाने से कोई ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है। सुभाष महरिया पार्टी में आए हैं। वह काम करेंगे तो उन्हें फल भी मिलेगा। सांसद ने कहा कि यदि एक ट्रैक्टर में 100 क्विंटल अनाज पड़ा है और उसमें एक मुट्ठी चना डाल दे तो कोई फर्क नहीं पड़ता है। हमारी पार्टी में और भी लोग आए हैं और आते रहेंगे।

महरिया पर साधा निशाना, बोले- कोई टेढ़ा-मेढ़ा चलेगा तो उसके खिलाफ आक्रोश होगा
बगावत करने वाले नेताओं की पार्टी में वापसी की बात पर सांसद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अनुशासित पार्टी है। अगर कोई पार्टी में आकर अनुशासनहीनता करता है तो उसके खिलाफ आक्रोश होता है। जो अनुशासन में रहता है उसका सम्मान होता है। यदि फिर कोई टेढ़ा-मेढ़ा चलेगा तो उसके खिलाफ आक्रोश होगा।

सांसद ने कहा कि महरिया ने जो अनुशासनहीनता कि उसका परिणाम उन्हें मिला कि वह 2-3 चुनाव हार गए। अब पार्टी में आए हैं तो अनुशासन के साथ काम करेंगे तो सभी उनका स्वागत करेंगे।

बिजली की दरें लगातार बढ़ रही
सीकर के उपखंड मुख्यालय पर बिजली-पानी के मुद्दे को लेकर आज भाजपा ने प्रदर्शन किया था। प्रेस वार्ता में राष्ट्रीय मंत्री अल्का गुर्जर ने कहा कि बिजली की दरें लगातार बढ़ती जा रही है। राजस्थान की कांग्रेस आंतरिक कलह से जूझ रही है। भ्रष्टाचार का आलम यह है कि जनता त्राहिमाम कर रही है।

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल का सर्वे कहता है कि राजस्थान में 65 प्रतिशत जगहों पर बिना रिश्वत के कोई काम नहीं होते हैं। यह बात हम ही नहीं सरकार के विधायक भी कह रहे हैं। भारत सिंह लगातार मुख्यमंत्री को लगातार लेटर लिख रहे हैं। उनका लेटर पेड तक खत्म हो चुका है। इसी सरकार के ग्रुप की रैली में इन्ही के मंत्री ने आरोप लगाया है कि सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई है। बिना रिश्वत के सरकार में कोई काम नहीं होता है।

राजस्थान लगातार बढ़ रहा क्राइम
राजस्थान को वीरांगनाओं की धरती कहा जाता है कि लेकिन प्रदेश में महिला अत्याचार लगातार बढ़ता जा रहा है। राजस्थान में हर रोज 17 रेप होते हैं। युवा परेशान हैं क्योंकि वह पेपर की तैयारी करके एग्जाम देने जाते हैं लेकिन पेपरलीक हो जाता है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है जिनका कहना है कि 1 से 10 तक की गिनती का वादा तो पूरा नहीं हुआ। लेकिन सरकार ने बजट में जो फ्री बिजली की घोषणा की। वह भी सरकार ने पूरी नहीं की है। अब गर्मी के समय सरकार यह महंगाई राहत कैंप लगा रही है।

महंगाई राहत कैंप में बुलाकर लोगों को परेशान कर रहे
इस डिजिटल युग में जब सारा डाटा सरकार के पास ऑनलाइन है तो फिर जनता को इन महंगाई राहत कैंपों बुलाकर परेशान क्यों किया जा रहा है। इन महंगाई राहत शिविरों में इनके मंत्री और जनप्रतिनिधि मुख्य अतिथि के रूप में आते हैं और जनता को राहत देने के नाम पर केवल भारतीय जनता पार्टी को कोसने का काम करते हैं। जो केंद्र सरकार योजनाएं लेकर आई उन्हें राजस्थान में ढंग से लागू नहीं किया जा रहा।

इसके अलावा सरकार ने जब 50 से 100 यूनिट बिजली फ्री की घोषणा कर दी तो री रजिस्ट्रेशन के नाम पर जनता को इन राहत शिविरों में बुलाने का क्या फायदा। इन राहत शिविरों के पोस्टर्स में पार्टी के अध्यक्ष का फोटो है। सरकार का पैसा कांग्रेस अपने प्रचार प्रसार में खर्च कर रही है। उन्होंने कहा कि यह बात तो ऑन रिकॉर्ड है कि इनके कुप्रबंधन के कारण आयातित कोयले में 30% की चोरी पकड़ी गई है। बिजली कंपनियां घाटे में चल रही है। आज तक ऐसी सरकार कभी नहीं आई है,जिसने राजस्थान को भ्रष्टाचार के मामले में नंबर 1 कर दिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack